Header Ads Widget

header ads

आरती : श्री लक्ष्मी जी की - Maa Laxmi Aarti , With Photo PDF, By: Bhakti Bharat

              - Maa Laxmi Aarti -


मां लक्ष्मी जी की पावन आरती मुख्य रूप से दीपावली के दिन सभी के घरों में होती है। परंतु मां लक्ष्मी जी की पावन आरती प्रतिदिन करने से सुख समृद्धि मिलती है । तथा धन से संबंधित सारी समस्या नस्ट हो जाती है ।




                     ।।  आरती ।।



जय लक्ष्मी माता मैया जय लक्ष्मी माता,

तुमको निशदित सेवत, हर विष्णु धाता ।


 ब्रह्माणी रुद्राणी कमला, तू ही है जग माता, 

सूर्य चन्द्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता । 


दुर्गा रूप निरंजन सुख संपत्ति दाता, 

जो कोई तुमको ध्यावत, अष्ट सिद्धि पाता । 


तू ही हैं पाताल वसतीं तू ही शुभ दाता, 

कर्म प्रभाव प्रकाशा, जगनिधि हे त्राता । 


जिस घर तेरा बासा, जाहि में गुण आता, 

कर न सके सो कर ले, असीमित धन पाता ।


 तुम बिन यज्ञ नहीं होवे, वस्त्र न हो माता, 

खान पान धन वैभव, तुम बिन कुल दाता । 


शुभ गुण सुन्दर सुकता क्षीर निधि जाता, 

रत्न चतुर्दश तुम बिन कोई न नर पाता । 


आरती लक्ष्मी जी की जो कोई नरमन से गाता, 

उर में आनंद अति उपजे, पार उतर जाता । 


भीतर चर जगत बसावे, कर्म प्राण दाता, 

'घनश्याम' मैया की, शुभ दृष्टि चाहता ।


Download PDF: Click 


FAQ :


श्री लक्ष्मी जी की आरती हिंदी में ?

आपको ईसी Blog में ऊपर की तरफ श्री लक्ष्मी जी की आरती हिंदी में दी हुई है आप इसे में पढ़ सकते हैं । साथ ही PDF डाउनलोड कर सकते हैं ।

लक्ष्मी जी की आरती ?

ऊपर की तरफ लक्ष्मी जी की आरती लिखी हुई है । साथ ही आरती की फोटो का PDF दिया गया है।


Post a Comment

0 Comments